Shaheed Diwas

      भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव थापर को श्रद्धांजलि देने और इनके बलिदानों को याद करने के लिये भारत में 23 मार्च को भी शहीद दिवस...

 

 

 

भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव थापर को श्रद्धांजलि देने और इनके बलिदानों को याद करने के लिये भारत में 23 मार्च को भी शहीद दिवस मनाया जाता है। 

सिक्ख परिवार में पंजाब के लायलपुर में 28 सितंबर 1907 को जन्में भगत सिंह भारतीय इतिहास के महान स्वतंत्रता सेनानियों में जाने जाते थे। इनके पिता गदर पार्टी के नाम से प्रसिद्ध एक संगठन के सदस्य थे जो भारत की आजादी के लिये काम करती थी। भगत सिंह ने अपने साथियों राजगुरु, आजाद, सुखदेव, और जय गोपाल के साथ मिलकर लाला लाजपत राय पर लाठी चार्ज के खिलाफ लड़ाई की थी। शहीद भगत सिंह का साहसिक कार्य आज के युवाओं के लिये एक प्रेरणास्रोत का कार्य कर रहा है।

वर्ष 1929 में, 8 अप्रैल को अपने साथियों के साथ केन्द्रीय विधायी सभा में “इंकलाब जिंदाबाद” के नारे लगाते हुए बम फेंक दिया था। उन पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ और 23 मार्च 1931 को लाहौर के जेल में शाम 7:33 बजे फाँसी पर लटका दिया गया था।

20 March,2018 को जिला कुरुक्षेत्र गांव दुनिया माज़रा में भाई सरदार जसबीर गिल ने अपनी जमीन पर शहीद स्मारक का शिलान्यास किया ,  वहाँ सोशल अम्ब्रेला फाउंडेशन की फाउंडर डायरेक्टर भावना बजाज को उनकी समाज सेवा कार्यो के लिए सम्मानित किया गया 

 

RELATED BY